Sunday, February 11, 2018

जिक्र मोहब्बत का जो आये तो तेरी याद आये

नग़मे इश्क़ के कोई गाये तो तेरी याद आये
जिक्र मोहब्बत का जो आये तो तेरी याद आये

यूँ तो हर पेड़ पे डालें हज़ारों है निकली
टूट के कोई पत्ता जो गिर जाये तो तेरी याद आये

कितने फूलों से गुलशन है ये बगिया मेरी
भंवरा इनपे जो कोई मंडराये तो तेरी याद आये

चन्दन सी महक रहे इस बहती पुरवाई में
झोंका हवा का मुझसे टकराये तो तेरी याद आये

शीतल सी धारा बहे अपनी ही मस्ती में यहाँ
मोड़ पे बल खाये जो ये नदिया तो तेरी याद आये

शांत जो ये है सागर कितनी गहराई लिये
शोर करती लहरें जो गोते लगाये तो तेरी याद आये

सुबह का सूरज जो निकला है रौशनी लिये
ये किरणें हर ओर बिखर जाये तो तेरी याद आये

'मौन' बैठा है ये चाँद दामन में सितारे लिये
टूटता कोई तारा जो दिख जाये तो तेरी याद आये

- अमित मिश्रा

14 comments:

  1. ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन, भूखा बुद्धिजीवी और बेइमान नेता “ , मे आप की पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    ReplyDelete
    Replies
    1. This comment has been removed by the author.

      Delete
    2. जी बहुत धन्यवाद आपका मेरी और रचनाएं पढ़ने के लिए मेरा blog देखें
      poetmishraji.blogspot.com

      Delete
    3. indiandreamlife.blogspot.com
      plz visit on this blog i hope u really enjoy.
      thanks

      Delete
  2. Replies
    1. जी बहुत धन्यवाद आपका मेरी और रचनाएं पढ़ने के लिए मेरा blog देखें
      poetmishraji.blogspot.com

      Delete
  3. आपकी लिखी रचना आज "पांच लिंकों का आनन्द में" बुधवार 14फरवरी 2018 को साझा की गई है......... http://halchalwith5links.blogspot.in/ पर आप भी आइएगा....धन्यवाद!

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी बहुत धन्यवाद आपका मेरी और रचनाएं पढ़ने के लिए मेरा blog देखें
      poetmishraji.blogspot.com

      Delete
  4. Replies
    1. जी बहुत धन्यवाद आपका मेरी और रचनाएं पढ़ने के लिए मेरा blog देखें
      poetmishraji.blogspot.com

      Delete
  5. अति सुंदर, मनोहर रचना

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी बहुत धन्यवाद आपका मेरी और रचनाएं पढ़ने के लिए मेरा blog देखें
      poetmishraji.blogspot.com

      Delete
  6. लाजवाब !! बहुत खूब आदरणीय ।

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी बहुत धन्यवाद आपका मेरी और रचनाएं पढ़ने के लिए मेरा blog देखें
      poetmishraji.blogspot.com

      Delete